https://khulasafirst.com/images/018b0c44750c0bcd6aa1df6cb8d422c9.png

Hindi News / politics / There is peace in Gujarat after being taught a lesson in 2002

2002 में सबक सिखाने के बाद गुजरात में शांति है : अमित शाह ने चुनावी रैली में किया गुजरात दंगों का जिक्र

26-11-2022 : 03:48 pm ||

अहमदाबाद| एजेंसी

गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान शुक्रवार को 2002 का साल याद दिलाया। अमित शाह ने खेड़ा की एक रैली में कहा कि 1995 से पहले जब राज्य में कांग्रेस की सरकार थी, तब असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद थे। 2002 में हमने उन्हें ऐसा सबक सिखाया कि वे हिंसा करना भूल गए। इसके बाद भाजपा ने पूरे गुजरात में स्थायी शांति ला दी।


शाह ने कहा कि गुजरात में सांप्रदायिक दंगों को भड़काने का काम कांग्रेस ने किया। मैं आज भरूच जिला में हूं। मैंने यहां बहुत दंगे देखे हैं। 2002 में इन्होंने हिंसा करने की हिम्मत की थी, इनको ऐसा पाठ पढ़ाया, चुन-चुन कर सीधा किया। जेल में डाला तो उसके बाद से 22 साल हो गए, कहीं कर्फ्यू नहीं लगाना पड़ा। शाह ने आगे कहा कि कांग्रेस राज्य में दंगे करवाकर अलग-अलग समुदाय और जाति के लोगों को एक-दूसरे से लड़ने के लिए भड़काती थी। कांग्रेस अपने वोट बैंक के लिए लोगों को हिंसा करने के लिए शह दिया करती थी। कांग्रेस ने सिर्फ अपने वोट बैंक को मजबूत किया और समाज के एक बड़े वर्ग के साथ अन्याय किया।


कांग्रेस के शासन में इज्जू शेख और लतीफ दादा होते थे

शाह ने कहा- अपराधियों को कांग्रेस से लंबे समय तक समर्थन मिलने के कारण हिंसा करने की आदत हो गई थी। गुजरात में जब कांग्रेस का शासन था तो यहां इज्जू शेख, पीरजादा और लतीफ जैसे दादा हुआ करते थे, लेकिन आज गुजरात के गांवों में अगर कोई एक दादा है तो वे हैं ‘हनुमान दादा’। बाकी कोई नहीं।


शाह के बयान पर भड़के ओवैसी

गुजरात चुनाव के दौरान राजनीतिक दलों के बीच तीखी बयानबाजी लगातार जारी है।एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को अहमदाबाद में एक जनसभा के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के ‘2002 में दंगाइयों को सबक सिखाने’ वाले बयान पर जमकर निशाना साधा। गुजरात में सबसे बड़ी मुस्लिम बस्ती जुहापुरा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए एआईएमआईएम चीफ ने कहा कि अमित शाह ने आज एक सार्वजनिक रैली के दौरान बयान दिया कि उन्होंने 2002 में गुजरात के दंगाइयों को सबक सिखाया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राज्य में स्थायी शांति स्थापित की। मैं इस अहमदाबाद निर्वाचन क्षेत्र के सांसद अमित शाह को बताना चाहता हूं कि आपने 2002 में जो सबक सिखाया था वह यह था कि बिलकिस के बलात्कारियों को आप छोड़ देंगे। आपने जो सबक सिखाया वह यह था कि आप बिलकिस की तीन साल की बेटी के कातिलों को रिहा कर देंगे। आपने हमें यह भी सिखाया कि अहसान जाफरी को मारा जा सकता है।


All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़