https://khulasafirst.com/images/018b0c44750c0bcd6aa1df6cb8d422c9.png

Hindi News / State / Shivraj ji before selling electricity fulfill the public

शिवराज जी... बिजली बेचने से पहले जनता की पूर्ति करो : बिजली कटौती के खिलाफ कांग्रेस ने जलाया शिवराज सिंह का पुतला

20-05-2022 : 04:16 pm ||

खुलासा फर्स्ट… गुना


मध्य प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर  ब्लॉक शहर और ग्रामीण कांग्रेस कमेटी ने गुरुवार को नगरपालिका के सामने बिजली के मुद्दे पर जबर्दस्त प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया।  नेताओं ने आरोप लगाया जनता की चुनी हुई सरकार को गिराने के लिए ऊर्जा मंत्री ने 35 करोड़ रुपए लिए थे, जिसकी भरपाई करने की कोशिश की जा रही है और इसलिए जनता को परेशान किया जा रहा है। गुना सहित पूरे जिले में रोजाना घंटों की बिजली कटौती से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है।


गुना दौरे पर आए ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर के सामने भी ग्रामीणों ने 4 घंटे तक लगातार कटौती होने की बात कही थी।  कुछ ऐसे ही हालात शहर में बन रहे हैं जहां कभी घोषित तो कभी अघोषित घंटों कटौती की जा रही है। शहर और ग्रामीण कांग्रेस के बैनर तले गुरुवार को कांग्रेस नेता बिजली समस्या के विरोध में सड़क पर उतरे। नगरपालिका के सामने जमकर नारेबाजी करते हुए कांग्रेसी नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से गुहार लगाई वह बिजली बेचने के बजाय सबसे पहले मप्र की जनता को उपलब्ध कराएं। मध्य प्रदेश की बिजली पर पहला अधिकार प्रदेश की जनता का है।


कांग्रेस नेताओं में इन परिस्थितियों को साल 2020 में बने राजनीतिक घटनाक्रम से जोड़ा और बताया चुनी हुई सरकार को गिराने और विधायकों की खरीद-फरोख्त की वजह से यह हालात बने हैं। वक्ताओं ने कहा सरकार के पास बिजली उत्पादन के लिए कोयला खत्म हो गया लेकिन अनाप-शनाप बिल छाप कर आम जनता की जेब मे डाका डालने के लिए बिल का कागज भरपूर मात्रा में है।


पुतला दहन पर मौन रही पुलिस

हनुमान चौराहे पर भाषण और प्रदर्शन के बाद वहीं पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का पुतला जलाया गया। पुतला दहन के समय पुलिस ने रोकने की जहमत नहीं की। साथ ही ग्रामीण कांग्रेस ने किसानों की समस्या को भी मुद्दा बनाया।ग्रामीण कांग्रेस के अनुसार गेहूं उपार्जन केंद्र पर उपज बेचने के लगभग 1 माह बीत जाने पर भी भुगतान नहीं किया गया है। जिन किसानों के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में केसीसी हैं उन्हें भी भुगतान नहीं किया जा रहा है।



All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़