https://khulasafirst.com/images/018b0c44750c0bcd6aa1df6cb8d422c9.png

Hindi News / politics / In the first phase the credibility of AAP heavyweight leaders is at stake

पहले चरण में आप के हैवीवेट नेताओं की साख दांव पर : पहले चरण का मतदान कल, ये सीटें खास

30-11-2022 : 04:42 pm ||

क्रिकेटर रवींद्र जाडेजा की पत्नी की सीट भी

काफी सीटों पर त्रिकोणीय संघर्ष की स्थिति


एजेंसी… अहमदाबाद

गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले चरण का चुनाव प्रचार को खत्म हो चुका है। 1 दिसंबर को पहले चरण की 89 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। इसमें सौराष्ट्र की 48, कच्छ की 6 और दक्षिण गुजरात की 35 सीटें शामिल हैं। पहले चरण में कई वीआईपी सीटें शामिल हैं, जहां से वर्तमान सरकार के मंत्री और बड़े नेता मैदान में हैं, लेकिन इसके कुटियाणा, भावनगर, पोरबंदर, वराछा रोड, गोंडल, कतारगाम, राजकोट पूर्व, खंभालिया, मोरबी और वसंदा सीटों को अहम माना जा रहा है।


कुटियाणा

पोरबंदर की कुटियाणा सीट से लगातार दो बार से विधायक हैं। कांधल जाडेजा गुजरात की लेडी डॉन कही गई संतोकबेन जाडेजा के बेटे हैं। पिछली दो बार वह एनसीपी की टिकट पर जीते थे, लेकिन इस बार वे समाजवादी पार्टी के चिन्ह साइकिल पर लड़ रहे हैं। बीजेपी ने यहां से ढेलीबेन आढेदरा को मैदान में उतारा है। 


भावनगर पश्चिम

भावनगर जिले की इस सीट से गुजरात सरकार के मौजूदा शिक्षा मंत्री जीतू वाघाणी चुनाव लड़ रहे हैं। 2012 से लगातार जी रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने सामाजिक कार्यकर्ता राजू सोलंकी को उतारा है। राजू सोलंकी आम के नए पोस्टर ब्वॉय भी है। कांग्रेस से किशोर सिंह गोहिल हैं।


राजकोट पूर्व

राजकोट जिले की पूर्व सीट पर क्या कांग्रेस के नेता इंद्रनील राज्यगुरू फिर से कब्जा कर पाएंगे? धनकुबेर इंद्रनील आप से कांग्रेस में वापसी करने के बाद यहां से लड़ रहे हैं। पिछली बार यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी और यहां अरविंद रैयाणी जीते थे।


पोरबंदर

2017 के चुनाव में बीजेपी के बाबूभाई बोखरिया ने कांग्रेस के दिग्गज नेता अर्जुन मोढवाड़िया को हरा दिया था। लगातार दूसरी बार मोढवाड़िया हारे थे। इस बार फिर से दोनों नेता चुनावी रण में आमने-सामने हैं।


जामनगर उत्तर

जामनगर उत्तर की सीट से बीजेपी ने धर्मेंद्र सिंह जाडेजा का टिकट काटकार स्टार क्रिकेटर की पत्नी रिवाबा जाडेजा को मौका दिया है।रिवाबा 2019 के लोकसभा चुनावों के समय बीजेपी में शामिल हुईं। मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार बिपेन्द्र सिंह जाडेजा से है। यह सीट हाई प्रोफाइल मुकाबले से ज्यादा पारिवारिक मतभेद के लिए चर्चा में है। रिवाबा के सामने उनकी ननद नैया जाडेजा कांग्रेस से मुश्किलें बढ़ा रही हैं।


वसंदा

फिलहाल कांग्रेस का कब्जा है। युवा नेता अनंत पटेल जीते थे। क्या वे फिर से जीत पाएंगे? बीजेपी ने राहुल गांधी के करीबी युवा नेता की घेराबंदी के लिए पीयूष पटेल को उतारा है। आप ने पंकज पटेल को उतारा है। राहुल गांधी ने एक रैली महुवा में अनंत पटेल के लिए की थी।


वराछा रोड

पाटीदारों का गढ़ मानी जाने वाली यह सीट काफी ज्यादा चर्चा में हैं, क्योंकि आप ने यहां पाटीदार आंदोलन के प्रमुख चेहरे अल्पेश कथीरिया को मैदान में उतारा है, तो बीजेपी से पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक किशोर कनाणी मैदान में हैं। गोंडल राजकोट जिले की गोंडल सीट दो क्षत्रिय परिवारों के वर्चस्व की लड़ाइ्र के चलते हमेशा सुर्खियों में रहती है। बीजेपी ने मौजूदा विधायक गीताबा जाडेजा को उतारा है। वे पूर्व विधायक जयराज सिंह जाडेजा की पत्नी हैं तो दूसरी तरफ टिकट नहीं मिलने पर पूर्व विधायक महिपत सिंह जाडेजा के बेट अनिरुद्ध सिंह जाडेजा नाराज है और उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार को समर्थन देने का ऐलान किया है।


खंभालिया

आम के गुजरात में सीएम फेस हैं। उनके इस सीट से उतरने के कारण खंभालिया सीट चर्चा में है। इसुदान गढ़वी मूलत: पत्रकार थे, लेकिन चुनावी रण में उन्हें काफी कड़ी टक्कर मिल रही है। यहां पर पिछले कई दशक से सिर्फ अहीर समाज के प्रत्याशी को जीत मिली है। बीजेपी ने मुलुभाई बेरा को उम्मीदवार बनाया है तो वहीं कांग्रेस ने अपने मौजूदा विधायक विक्रम माडम को रिपीट किया है। सीट द्वारका जिले में है।


मोरबी

चुनावों से पहले ब्रिज हादसे के चलते चर्चा में आए सौराष्ट्र के इस जिले में क्या बीजेपी को नुकसान होगा? बीजेपी ने मंत्री ब्रजेश मेरजा का टिकट काटकर यहां से पूर्व विधायक कांतिलाल अमृतिया को मैदान में उतारा है। 2017  में ब्रजेश मेरजा ने कांग्रेस से जीत हासिल की थी, लेकिन बाद में वे बीजेपी में चले गए।


All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़