https://khulasafirst.com/images/018b0c44750c0bcd6aa1df6cb8d422c9.png

Hindi News / indore / Illegal construction work started again in Mahalaxmi Nagar

महालक्ष्मी नगर में फिर शुरू हुए अवैध निर्माण कार्य... : नगर निगम अफसरों की मेहरबानी

02-12-2022 : 01:35 pm ||

महापौर की नाराजगी के बाद हाथों हाथ जारी किए नोटिस, सर्वे भी शुरू


रणवीरसिंह कंग खुलासा फर्स्ट… इंदौर

महालक्ष्मी नगर इलाके में रहवासी नक्शों पर होटल, होस्टल, रेस्टोरेंट, अवैध इमारतों को लेकर रहवासियों की आवाज खुलासा फर्स्ट लगातार उठाता आया है। खुलासा फर्स्ट की मुहिम के बाद कई अवैध निर्माणों पर बुलडोजर भी चला। कुछ दिन सख्ती के बाद नगर निगम के अधिकारियों की मेहरबानी से अवैध निर्माण का खेल दोबारा शुरू हो गया। अवैध निर्माण के साथ रहवासी कई स्थानों पर चल रही अनैतिक गतिविधियों से भी त्रस्त हैं। रहवासियों की शिकायत महापौर पुष्यमित्र भार्गव तक पहुंची, तो वह जिम्मेदार अधिकारियों पर जमकर भड़के और तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए, इस पर जिम्मेदार जागे और इलाके का सर्वे कर एक दर्जन नोटिस जारी किए।


गौरतलब है, इस वर्ष की शुरुआत में खुलासा फर्स्ट की मुहिम के बाद नगर निगम ने चिकित्सक नगर में चल रही अमित जैन की होटल सिल्वर, हरीश कुलश्रेष्ठ के भवन और डॉ. सुबोध बांझल की होटल कैडबरी में अवैध निर्माण तोड़ा था। कार्रवाई के दौरान यहां से युवक और युवतियां मुंह छिपाकर भागते नजर आए। तलाशी लेने पर बड़ी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री भी मिली थी। 


इलाके में इसी तरह चल रहे होटलों को लेकर खुलासा फर्स्ट ने प्रमुखता से खुलासा किया गया था। महालक्ष्मी नगर और आसपास की कॉलोनियों के रहवासियों ने खुलासा फर्स्ट की मुहिम का स्वागत किया और इलाके में चल रही अनैतिक गतिविधियों पर लगाम भी लगी। निगम ने इस तरह की 25 होटलों को नोटिस जारी किए थे, लेकिन बाद में मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। कुछ दिन की सख्ती के बाद सांठगांठ कर अवैध निर्माण दोबारा शुरू हो गए। गत दिनों रहवासी संघ ने महापौर पुष्यमित्र भार्गव को इस संबंध में शिकायत की। महापौर ने तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए। तब जाकर नंबर 8 झोन हरकत में आया। अब एक दर्जन अवैध निर्माण को लेकर नोटिस जारी किए गए हैं।


अवैध निर्माण की लगातार कर रहे शिकायत

हम अवैध निर्माण को लेकर लगातार निगम, प्रशासन, सीएम हेल्प लाइन में शिकायतें कर रहे हैं। अतिक्रमण कर कई लोगों ने सड़क पर ही कब्जा कर लिया है। रहवासी प्लॉट पर अवैध रूप से व्यवसाय कर रहे हैं, जिससे आमजन को परेशानी हो रही है। इलाके में जमकर अवैध निर्माण हो रहा है। दो प्लॉटों को जोड़कर होस्टल-होटल बनाए जा रहे हैं। खुलासा फर्स्ट लगातार मजबूती से हमारी आवाज उठाता रहा है। अब महालक्ष्मी नगर रहवासी संघ जन आंदोलन खड़ा करने की तैयारी कर रहा है। जल्दी ही कार्यकारिणी की बैठक में इस पर निर्णय लिया जाएगा।

ब्रजेश पचौरी, सचिव महालक्ष्मी नगर रहवासी संघ


सख्त कार्रवाई करेंगे

 इलाके में अवैध निर्माण को लेकर रहवासियों की शिकायत को आगे बढ़ाया है। निगम अफसरों से सख्त कार्रवाई करने को कहा है। जो भी नियम विरुद्ध निर्माण किया गया है, उसपर बुलडोजर चलेगा।

संगीता महेश जोशी, पार्षद वार्ड 37


नोटिस जारी किए है

 महापौर कार्यालय से मिले निर्देश के आधार पर महालक्ष्मी नगर इलाके में सर्वे कर अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस की प्रक्रिया के बाद अवैध निर्माण तोड़ने की कार्रवाई की जाएगी।

सत्येन्द्रसिंह राजपूत, बिल्डिंग 


ऑफिसर झोन-8

मंदिर के पास बना दिया अवैध रेस्टोरेंट

महालक्ष्मी नगर स्थित त्रिपुरेश्वर महादेव मंदिर के पास खाली पड़े प्लॉटों में शिवास कैफे शुरू कर दिया गया। यहां देर रात तक युवक-युवतियां जमा होकर खुल्लेआम सिगरेट के छल्ले उड़ाते दिखते थे। मंदिर आने-जाने वालों की परेशानी को लेकर रहवासी संघ ने कई शिकायतें की। रेस्टोरेंट को नोटिस जारी हुआ तो इसे दूसरी जगह शिफ्ट करने का बोर्ड लगा दिया गया। प्लॉट मालिक ने जल्द टीन शेड हटाने की बात भी निगम अधिकारियों से कही है।


खुलेआम उड़ रही नियमों की धज्जियां

महालक्ष्मी नगर में अवैध निर्माण पर कई बार बुलडोजर चलने के बाद भी बिल्डरों के हौसले बुलंद हैं। प्लॉट नंबर 70 और 71 पर बिल्डर ने संयुक्तिकरण कर इमारत तान दी। निर्माण शुरू होने के बाद कई माह से रहवासी संघ इस संबंध में शिकायत कर रहा है, अब निर्माण लगभग पूरा होने के बाद निगम ने नोटिस जारी किया है। इसी तरह साई रिजेंसी के सामने प्लॉट नंबर 159/1 पर स्टूडियो अपार्टमेंट को लेकर लगातार रहवासी शिकायत कर रहे हैं, अवैध निर्माण के साथ यहां अनैतिक गतिविधियों को लेकर भी शिकायत की गई है। इसके ठीक पास 1200 वर्ग फीट के प्लॉट पर तीन मंजिला इमारत बना दी गई। सात फ्लैट बनाकर उन्हें बेचने की तैयारी की जा रही है। इन दोनों इमारतों में पार्किंग के लिए कोई जगह नहीं छोड़ी गई है, जिससे सड़क पर गाड़ियां खड़ी करने को लेकर आए दिन विवाद की स्थिति बन रही है।


All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़