https://khulasafirst.com/images/018b0c44750c0bcd6aa1df6cb8d422c9.png

Hindi News / State / himachal-pradesh-una-firecracker-factory 7-killed

हिमाचल की पटाखा फैक्ट्री में धमाका : 7 महिलाओं की जिंदा जलकर मौत, PM मोदी ने जताया दुख

22-02-2022 : 05:40 pm ||

खुलासा फर्स्ट....ऊना। हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में स्थित पटाखा फैक्टरी में विस्फोट होने से बड़ा हादसा हो गया, जिसमें छह मजदूरों की जलकर मौत हो गई। वहीं 18 महिलाओं समेत कुल 20 मजदूर आग की चपेट में आ गए। इनमें से 6 महिलाओं की जिंदा ही बुरी तरह जल जाने से मौके पर ही मौत हो गई। घायलों को सियान अस्पताल बाथड़ी भेजा गया है। इनमें से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। डीसी ऊना की ओर से राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र को दी गई सूचना के अनुसार फैक्टरी में विस्फोट सुबह करीब 10:15 बजे हुआ। 


धमाके के बाद फैक्टरी में भड़क गई आग 

एक घायल महिला ने बताया कि विस्फोट के समय फैक्टरी में 30 से 35 लोग काम कर रहे थे। अचानक जोरदार धमाके के बाद फैक्टरी में आग भड़क गई। फैक्टरी में विस्फोट के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस मौके पर छानबीन कर रही है। डीएसपी हरोली अनिल पटियाल ने बताया कि मौके पर जांच की जा रही है। सभी पहलुओं की गहनता से जांच की जा रही है। मौके पर डीसी ऊना राघव शर्मा, एसपी अर्जित सेन, उद्योग के महाप्रबंधक अंशुल धीमान भी मौजूद रहे।  


घायलों की हुई पहचान 

हादसे में झुलसे लोगों की पहचान नरासरा पुत्री नूरा संतोखगढ़ ऊना, लसरत पत्नी अली हुसैन संतोखगढ़ ऊना, हसगिरी पत्नी नूरा संतोखगढ़ ऊना, जूशी पुत्र चंद्रपाल हरोली ऊना, नसरीन पत्नी सलीम संतोखगढ़ ऊना, शकीला पत्नी नवी हुसैन संतोखगढ़ ऊना, इसरत पत्नी मोहम्मद मोबिन संतोखगढ़ ऊना, अशमा पत्नी मालू संतोखगढ़ ऊना, नतिशा अब्दुल जावेद संतोखगढ़ ऊना, मुस्कान पुत्री छोटे सलीम संतोखगढ़ ऊना, जाफरी पत्नी नूर मोहम्मद संतोखगढ़ ऊना, फारा पुत्री सागीर संतोखगढ़ ऊना तथा जशेल पुत्र बरठी होली के तौर पर हुई है।


...तो मजिस्ट्रेट से करवाएंगे जांच

DC ऊना के मुताबिक, पुलिस जांच में जुट गई है। यदि सरकार आदेश देती है तो इस संवेदनशील मामले की मजिस्ट्रेट से जांच कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि पटाखा फैक्ट्री किसकी अनुमति से चल रही थी, इसकी जानकारी उद्योग विभाग से भी मांगी गई है।


अवैध है फैक्टरी 

ग्राम पंचायत बाथू की प्रधान सुरेखा राणा ने बताया यह फैक्‍टरी पूरी तरह से अवैध थी। पंचायत की NOC के बिना फैक्टरी का संचालन किया जा रहा था। यहां पानी का कनेक्‍शन भी नहीं लिया गया था। यह फैक्‍टरी स्वां के बिल्कुल छोर पर थी। आसपास के लोगों और पड़ोसियों को भी इसके बारे में जानकारी नहीं थी। हादसे के शिकार हुए सभी लोग अन्‍य राज्‍यों के निवासी हैं। सुरेखा राणा ने बताया कि फैक्टरी में पहले भी आग लग चुकी है। 


पीएम ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में इस हादसे पर दुख जताया है और हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये की राहत राशि देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष यह राहत राशि प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री कार्यालय कार्यालय की ओर से ट्वीट कर इसकी सूचना दी गई है।  



All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़