https://khulasafirst.com/images/eceb0ef7616e803d2e768e2be8e121f2.jpg

Hindi News / indore / Agrawal Samaj Central Committee elections to be held after eight years

आठ साल बाद हो रहे अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति के चुनाव : केके गोयल (कांट्रेक्टर) कार्यकारिणी सदस्य पद के प्रबल दावेदार

05-08-2022 : 03:42 pm ||

खुलासा फर्स्ट… इंदौर

अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति कार्यकारिणी के द्विवार्षिक चुनाव करीब 8 वर्ष बाद हो रहे हैं। इस बार फ्री फॉर ऑल की तर्ज पर होने वाले चुनाव में कोई पैनल के दावेदार शामिल नहीं है। समाजसेवा कर समाज में अपना वर्चस्व बनाने वाले चुनाव में दावेदारी कर रहे हैं। इनमें समाजसेवी विजय नगर अग्रवाल महासंघ अध्यक्ष के के गोयल कांट्रेक्टर कार्यकारिणी सदस्य के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। 


अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति कार्यकारिणी के द्विवार्षिक चुनाव 7 अगस्त को शुभकारज गार्डन पर होंगे। इसके लिए सभी दावेदार अपने प्रचार में जुटे हुए हैं। बताया जाता है कि चुनाव में अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति के करीब साढ़े छह हजार सदस्य चुनाव में हिस्सा लेंगे। सदस्यों द्वारा मतदान के बाद उसी दिन मतों की गणना होगी और नतीजे घोषित किए जाएंगे। इन चुनावों में समाज के कई ऐसे दावेदार भी सक्रिय है, जो अपना प्रभाव जमाने में विफल साबित हो रहे हैं। वहीं अग्रवाल समाज विजय नगर महासंघ अध्यक्ष केके गोयल कांट्रेक्टर को समाजजन का भारी जनसमर्थन मिल रहा है। इसके चलते गोयल की जीत के दावे किए जा रहे हैं। गोयल ने बताया कि वह समाजसेवा के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय कार्य कर रहे हैं। उनके द्वारा समाजहित में हमेशा कार्य कर समाज के प्रत्येक व्यक्ति तक संस्था के कार्यों का लाभ पहुंचे, यही उनका प्रयास है। गोयल विगत 13 वर्षों से समाज में सामाजिक और धार्मिक कार्यों मे अग्र बंधुओं की सेवा में हमेशा तत्पर रहे हैं। साथ ही कई सामाजिक और राजनैतिक संगठनों से जुड़े हैं।


द्विवार्षिक चुनाव 

अग्रवाल केंद्रीय समिति के कार्यकारिणी चुनाव द्विवार्षिक चुनाव कराने का विधान है, लेकिन बीते वर्षों में कई बार निर्विरोध पदाधिकारी चुन लिए गए। इस वजह से समिति के चुनाव नहीं हुए। बीते दो वर्ष में कोरोना काल के कारण चुनाव टलते रहे। इस तरह अब करीब आठ वर्ष बाद समिति में चुनाव हो रहे हैं। इस कारण दावेदारो की संख्या को देखते हुए इसे फ्री फॉर ऑल कर दिया गया है। यह पहला मौका है, जब कोई पैनल चुनाव लड़ने  की जगह सभी अलग-अलग चुनाव लड़ रहे हैं। इसके चलते ही समिति के 21 पदों के लिए करीब 50 दावेदार चुनाव मैदान में हैं।


All Comments

No Comment Yet!!


Share Your Comment


टॉप न्यूज़